Bharat Heavy Electricals Limited को रक्षा मंत्रालय से 2,956 करोड़ का ऑर्डर मिलने के बाद कंपनी का शेयर असमान में पहुँचा जाने क्या मिला है काम

bharat heavy electricals limited- रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार 28 नवंबर को राज्य संचालित भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स को 2,956 करोड़ रुपये का भारतीय जल सेना के लिए 16 सुपर रैपिड गन माउंट (SRGM) और सहायक उपकरण बनने का कम दिया है। एसआरआरएम (SRGM) एक मध्यम कैलिबर एंटी-मिसाइल और एंटी-एयरक्राफ्ट हथियार प्रणाली है। जो प्रहार करने में निरंतर और उच्च सटीकता प्रदान करती है। रक्षा मंत्रालय ने बताया एसआरआरएम को नौसेना के सेवारत और नवनिर्मित जहाजों में लगाया जायेगा। रक्षा मंत्रालय ने 2,956 करोड़ रुपये की डील मेड इन इंडिया के तहत की है।

Join Telegram Group

रक्षा मंत्रालय ने अपने डील में क्या कहा-

रक्षा मंत्रालय ने बताया बीएचईएल अपने हरिद्वार स्तिथ प्लांट में यह कार्य पूरा करेगी। मंत्रालय ने कंपनी को इस कार्य को 5 साल की अवधि का समय दिया है। साथ ही में बताया इस परियोजना से ढाई लाख रोजगार पैदा करेगी और एमएसएमई सहित विभिन्न भारतीय उद्योगों को भी की सक्रिय भागीदारी को प्रोत्साहित करेगी। इस प्रकार रक्षा में भारत सरकार की परियोजनाआत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा मिलेगा। मंत्रालय ने बताया कि एसआरजीएम बहु-खतरे वाले परिदृश्यों कई कार्यों में सक्षम है। साथ ही बताया कि एसआरजीएम को भारतीय नौसेना के कार्यरहित जहाजो के साथ नव निर्मित प्लेटफार्मो पर भी स्थापित किया जाएगा।

क्या पड़ा डील से कंपनी में असर

बीएचईएल ने जैसे ही रक्षा मंत्रालय से हुई 16 एसआरजीएम गन की 2,956 करोड़ रुपये की डील के बारे में शेयर बाजार को जानकारी दी। तब ही से कंपनी के शेयरो को खरीदने के लिये निवेशकों की होड़ लग गई। 28 नवंबर को कंपनी का शेयर 152 रुपये में ओपन हुआ और 2.50 फीसदि के उछाल के साथ 156.05 में क्लोज हुआ। डील के बाद कंपनी के शेयर में लगातार तेजी देखी गई है। आज भी बाजार के आखरी कारोबारी दिन 1 दिसंबर को कंपनी के शेयर में 10:50 मिनट में 1.35 फीसदि के साथ कंपनी का शेयर 172.80 रुपये के साथ ट्रेड कर रहा है। कंपनी ने अपने निवेशकों को पिछले 1 माह में 39.58 फीसदि और 1 साल में 103.64 फीसदि का रिटर्न दिया है।

यह भी पढ़े- निवेश ना चूक जाये आज है आखरी दिन AMIC Forging IPO का जाने सारी डिटेल्स निवेश करे या नहीं ?

डिस्क्लेमर- यह आर्टिकल एक जानकारी के आधार से लिखा गया है। हमारा उद्देश्य है केवल जानकारी देना है। हम किसी भी शेयर,म्यूच्यूअल फंड इत्यादि में निवेश की सलाह नहीं देते है। शेयर बाजार जोखिमों के अधीन हैं निवेश करने से पहले अपने फाइनेंशियल एडवाइजर की राय जरुर ले।

Leave a comment